Find

कड़कनाथ मुर्गी पालन योजना

how to start kadaknath chicken farming

Description

कड़कनाथ मुर्गी पालन योजना कैसे शुरू करें

इन दिनों कड़कनाथ नस्ल की मुर्गी के अंडे और और उसके मांस की बाजार में  अच्छी खासी मांग चल रही है। इसलिए अगर आप भी इस बिज़नेस को शुरू करना चाहते हैं तो हम बता दें की ये बिज़नेस आपको काफी प्रॉफिट देगा। साथ ही सरकार  à¤­à¥€ कड़कनाथ पालन को बढ़ावा दे रही है और उसके लिए लोन भी मुहैया कराती है। तो आईये  à¤¹à¤® अब जाने की कड़कनाथ मुर्गे का व्यवसाय कैसे करें।

कड़कनाथ चिकन की जानकारी -

कड़कनाथ चिकन की नस्ल झाबुआ (मध्य प्रदेश ) की है। इस नस्ल के चिकन  à¤•à¤¾à¤²à¥‡ रंग के होते है और इसके अंडे भूरे रंग के होते हैं ।  आप ये भी जान ले की इनका मांस भी काले ही रंग का होता है। दुनिया में महज तीन ही ऐसे चिकन की नस्ल होती है जो काले रंग की होती है। इनका खानपान है -

Items

Per week

Broiler farming

Layer farming

Maize

59.00

40.00

57.00

Bajra

10.00

DORB

4.00

23.80

5.00

Soya

24.50

10.70

14.40

Sunflower

7.00

7.00

Fish

10.00

6.00

9.00

Mineral

2.00

2.00

2.00

Shell grit

5.00

Salt

0.50

0.50

0.50

Methionine

0.10

कड़कनाथ फार्मिंग के फायदे -

इस नस्ल के मांस और अंडे दोनों ही बाजार में महंगे दामों में बिकते हैं।और इनकी मांग इसलिए भी ज्यादा है क्यूंकि बाकी मुर्गियों के मुकाबले कड़कनाथ के अंडे और चिकन ज्यादा सेहतमंद होते हैं । अभी हमारे देश में इस तरह की फार्मिंग बहुत कम लोग कर रहे हैं इसलिए इसकी डिमांड भी ज्यादा है। आप इस फार्मिंग में जुड़कर कड़कनाथ चिकन

और उनके अंडो को महंगे दाम में बेच सकते हैं। इसके दाम कुछ इस प्रकार चल रहे हैं –

  • Price कड़कनाथ eggs – 40-50 per piece
  • Price कड़कनाथ चिकन- 800 per kg
  • अंडे का वजन- लगभग 45 से 50 ग्राम
  • खाना-पूरे जीवन चक्र में 50 किलो
  • वजन(नर कड़कनाथ चिकन)- 2.3 से6 किलो
  • वजन(मादा कड़कनाथ चिकन)-1.5 से7 किलो
  • बच्चों का वजन-25 से 30 ग्राम
  • Average Lifespan- 12 years

कड़कनाथ मुर्गे का व्यवसाय कैसे करे (How to start Kadaknath chicken farming)

इसकी पोल्ट्री फार्मिंग दो तरह की होती है पहली ब्रायलर(broiler) फार्मिंग और दूसरी लेयर(layer) फार्मिंग।  ब्रायलर फार्मिंग में इसके बच्चों को बड़ा करके इसका मांस बाजार में बेचा जाता है और लेयर फार्मिंग में इनके अण्डों को बेचा जाता है। इसलिए अगर आप कड़कनाथ मुर्गी फार्मिंग करना चाहते हैं तो पहले ये तय करलें की आप किस तरह की फार्मिंग करना पसंद करेंगे। और इस तरह की फार्मिंग के लिए आपको कोई विशेष मशीनो की जरुरत नहीं पड़ती है।

आपको इसके बच्चे किसी नज़दीकी पशुपालन केंद्र या किसी बड़े सप्लायर से खरीद सकते हैं जहां ये सस्ते में उपलब्ध होते हैं। कुछ कंपनियां ऐसी भी होती है जो आपको इसके बच्चे प्रदान कराती है और बड़े होने पर तय रेट से वापिस ले लेती है। तो आप इस तरह की कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग (kadaknath contract farming)भी कर सकते हैं अगर आपको खुद मार्केटिंग नहीं करनी हो।

लोन कहाँ से लें -

अगर आपके पास कड़कनाथ फार्मिंग के लिए प्रयाप्त पैसे नहीं हैं तो आप इसके लिए किसी भी सरकारी बैंक या NABARD से सरकार द्वारा दी गयी छूठ का फायदा लेते हुए लोन ले सकते हैं क्यूंकि उसका ब्याज दर काम होता है। और इस बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन आपको (micro small and medium enterprise) MSME से करवाना होगा और इस बिज़नेस  को कम से कम  2 लाख की लागत से शुरू किया जा सकता है।  

हमारी राय-

तो अब आपको कड़कनाथ मुर्गे का व्यवसाय कैसे करे पता चल गया है और इस फार्मिंग के फायदों से भी आप परिचित हो चुके होंगे। क्यूंकि हमारे देश में कड़कनाथ चिकन की नस्ल काफी कम बची है इस बिज़नेस को खोलना आपके लिए काफी फायदेमंद होगा।